नारद: ऊंट का माँस: लाभकारी एवं स्वास्थ्य वर्धक

Friday, April 13, 2012

ऊंट का माँस: लाभकारी एवं स्वास्थ्य वर्धक



माँस प्रेमियों के लिए एक अच्छी खबर है, कुछ दिन पहले ही मै बीकानेर विसिट पे गया था, वहाँ एक बहुत बड़ा कैमल ब्रीडिंग फार्म है, जहाँ ऊँटो कि देख रेख , और उसका वर्धन अच्छे तरीके किया जाता है. वह कुछ दिलचस्प  बाते सामने आई, जिसको मैंने क्रोस चेक करने के लिए कई  जानवरों के डाक्टर और स्वास्थ्य विशेषज्ञ से भी सलाह ली,  जो मै निचे लिख रहा हूँ :- 

१. ऊंट का माँस अन्य जानवरों के माँस से जादा लाभकारी होता है.
२. ऊंट के माँस में प्रोटीन जादा और वसा कम होता है . 
३. उन्नत का माँस मिडिल ईस्ट देशो में भरपूर मात्रा में उपयोग में लाया जाता है. 
४. जोनाथन मरकाम - एक आस्ट्रेलियन ऊंट विशेषग्य कहते हैं, ऊंट के माँस उपयोगिता से माँस उद्योग में ऊँटो कि जबरस्त मांग हुई है. 
५. ऊंट के माँस में आईरन और विटामिन सी दोनों ही किसी भी जानवर के मुकाबले प्रचुर मात्रा में होता है.

यहाँ तक की इस्लाम में भी ऊंट का मांस हलाल माना गया है और पवित्र भी, उलट हिन्दुओ के की  गाय उनके लिए पवित्र है , उपयोगी भी लेकिन  वो  उसके पूजते है. 
तो इस दृष्टि से भी ऊंट का मांस सर्वग्राह्य है. 
सादर 

कमल कुमार सिंह 
१४/४/२०१२ 


14 comments:

मनोज कुमार श्रीवास्तव said...

खाया या न खाया

ये न बताया

मनोज कुमार श्रीवास्तव said...

खाया या न खाया

ये न बताया

दर्शन कौर 'दर्शी' said...

हाय ऊंट .अब तेरा क्या होगा ???

जाटदेवता संदीप पवाँर said...
This comment has been removed by a blog administrator.
जाटदेवता संदीप पवाँर said...

नारद मुनि की जय हो।

अन्तर सोहिल said...

कभी ऊंट के मांस की कोई डिश खिलाओ, फिर मानेंगें :)

प्रणाम

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ!
--
संविधान निर्माता बाबा सहिब भीमराव अम्बेदकर के जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ-
आपका-
डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

रविकर फैजाबादी said...

hmm

DR. ANWER JAMAL said...

ज्ञानपीठ से प्रकाशित अज्ञेय की एक किताब है, 'एक बूंद सहसा उछली।' इसमें यूरोप के यात्रा-वृत्तांत हैं। ‘20वीं शती का गोलोक’ शीर्षक से स्वीडन का यात्रा-वृत्त है। स्वीडन में बड़े पैमाने पर डेयरी फार्मिंग होती है। लेकिन जब अज्ञेय को कहीं कोई गाय नहीं दिखी तो उन्होंने इस बारे में पूछताछ की . सवाल करने पर अज्ञेय खुद कई सवालों से घिर गए।
See
http://drayazahmad.blogspot.in/2012/01/golok.html

Sushil Kumar Joshi said...

़़़़
सुना है आदमी का माँस
होता सर्वश्रेष्ठ है
क्योंकी वो ही तो करता
उंट को बी टेस्ट है ।

Sushil Kumar Joshi said...

़़़़
सुना है आदमी का माँस
होता सर्वश्रेष्ठ है
क्योंकी वो ही तो करता
उंट को भी टेस्ट है ।

veerubhai said...

भाई साहब मांस से ज्यादा ऊंटनी का दूध गुणकारी होता है .अनेक रोगों में मुफीद माना गया है .क्यों हाइप कर रहे हो मांस भक्षण .

veerubhai said...

भाई साहब मांस से ज्यादा ऊंटनी का दूध गुणकारी होता है .अनेक रोगों में मुफीद माना गया है .क्यों हाइप कर रहे हो मांस भक्षण .

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') said...

आदरणीय वीरूभाई जी से सहमत....
सादर.