नारद: इमोशनल ब्लैकमेलिंग - अरविन्द

Sunday, February 17, 2013

इमोशनल ब्लैकमेलिंग - अरविन्द

चंदा माँगने का भावपूर्ण  विज्ञापन - इमोशनल ब्लैकमेलिंग 

एक बार एक पथिक एक ज्योतिष  पास पहुंचा, बोला  मेरा भविष्य बताओ, ज्योतिष ने कहा बेटा तेरा भविष्य बड़ा उज्जवल  है, लेकिन कुछ परेशानिया है शनि  देव की, यह देश इस भ्रष्ट देश में आगे बढ़ना होगा तो तो कुछ अनुष्ठान करने  होंगे, लाओ २५०० रुपया.
पथिक ने कहा, -बाबा नहीं है,
ज्योतिष - कोई बात नै ला २००० कुछ करता हूँ.
पथिक : इतने भी नहीं है.
ज्योतिश -  अच्छा १००० तो दे.
पथिक - यह भी नहीं है  ,
अच्छा २०० ,
नहीं है , '
"५० " तो दे ,
इतने भी नहीं है .
"२० तो होंगे "
नहीं १० लेलो - पथिक
 ज्योतिष - तो तेरा शनि भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता.


ये कहानी अरविन्द ने सुन के दाम १० रुपया कर दिया है, और ये सपने भी दिखाते हैं. पिछला दिखाया गया सपना  "लोकपाल" था, अब तो कई दर्जन है. -द मोर्डन बाबा विथ हाईटेक टेक्निक .


5 comments:

रविकर said...

सुन्दर प्रस्तुति -
शुभकामनायें ||

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ said...

वाह!
आपकी यह प्रविष्टि दिनांक 18-02-2013 को चर्चामंच-1159 पर लिंक की जा रही है। सादर सूचनार्थ

रविकर said...

गोली खाय जुलाब की, करता मोशन लूज ।

चिंता खाए देश की, बनी हॉट यह न्यूज ।

बनी हॉट यह न्यूज, फ्यूज कितने कर देता।

पर अन्ना का यूज, नहीं कर पाता नेता ।

कहाँ करोडो रोज, आज दस दस की बोली ।

होता जाए सोझ, मार सत्ता को गोली ।।

रविकर said...

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

DINESH PAREEK said...

वहा क्या बात है
मेरी नई रचना
फरियाद
एक स्वतंत्र स्त्री बनने मैं इतनी देर क्यूँ
दिनेश पारीक